छत्तीसगढ़- रायपुर एम्स ने देश का पहला मल्टीप्लेक्स पीसीआर कोरोना जाँच किट बनाया


छत्तीसगढ़- रायपुर एम्स के डॉक्टरों ने बनाया देश का पहला मल्टीप्लेक्स रियलटाइम पीसीआर कोरोना जाँच कीट

राजधानी रायपुर- देश मे कोरोना महामारी के समस्याओं को देखते हुए दुनिया की सभी सुपरलेब में कई तरह की किट और वैक्सीन तैयार करने में जुटे है। इसी महामारी और संक्रमण के खिलाफ रायपुर एम्स के डॉक्टरों ने 2 महीनों के लगातार प्रयास से कोरोना महामारी के खिलाफ एक बड़ी कामयाबी हासिल की है। इनके Covid-19 माइक्रोबायोलॉजी विभाग ने एक सस्ते और तेज रिजल्ट देने वाली रियलटाइम पीसीआर  जांच का तरीका खोज निकाला है। यह किट अभी वर्तमान रायपुर एम्स में प्रयोग होने वाले किट से तीन गुना सटीक नमूनों का  जांच और तेज रिजल्ट देगा जिससे समय की बचत भी होगी।

जिससे इनकी कीमत प्रति टेस्ट किट की वर्तमान लागत 4500 से घटकर 500 रुपय तक आने की संभावना है। यह मल्टीप्लेक्स रियलटाइम पीसीआर देश में पहला किट होगा जिसे रायपुर एम्स के डॉक्टरों ने खोज निकाला है। इस कीट की पेपेट के लिए आवेदन ICMR को दिया जाएगा। पेटेंट की मंजूरी मिलते ही रायपुर एम्स में इस तरह की नई पीसीआर जांच की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। जिससे कम समय मे अधिक, सस्ता और तेज कोरोना टेस्ट की सुविधा मिलेगी।
रायपुर एम्स देश का पहला मल्टीप्लेक्स रियलटाइम पीसीआर कोरोना जाँच किट बनाने में सफलता पाई।

इन्हें भी पढे-

इस सफलता के पीछे रहा इन डॉक्टरों का नाम-

इस सफलता में रायपुर एम्स के तीन डॉक्टरों का नाम आता है

जिसमें डॉ. कृष्ण गोपाल, डॉ. संजय सिंह नेगी और डॉ. कुलदीप शर्मा जिन्होंने लगातार 2 महीनों के अथक प्रयास से देश का पहला मल्टीप्लेक्स रियलटाइम पीसीआर कोरोना जांच किट बनाने में सफलता पाया। पेटेंट ICMR से प्रमाणित होने पर यह जांच पूरी तरह रायपुर एम्स में प्रारम्भ की जाएगी।

यह किट क्यो बना देश का पहला रियलटाइम पीसीआर किट-


1) एक ही बार मे 94 नमूनों की जांच करना सम्भव हो जाएगा।

2) सिर्फ पौने 2 घण्टो में नमूनों की जांच के रिजल्ट मिल पायेगा।

3) यह नए किट के आने से प्रति कोरोना टेस्ट 4500 से घटकर सिर्फ 500 में हो पायेगा।

4) आरटी किट में होने वाले अधिक खर्चीले रसायनों के प्रयोग होते है। नए किट के तरीकों से बेहद कम रसायनों का प्रयोग सम्भव हो जाएगा।

5) कोरोना स्क्रीनिंग और इनकी पुष्टि एक ही समय मे पता मिल पायेगा। अभी इनके लिए स्क्रीनिंग के बाद कोरोना पुष्टि के लिए 6 घण्टे का इंतजार करना पड़ता है।

6) इस नए पीसीआर किट से रोजाना 4000 कोरोना टेस्ट सम्भव हो पाएगा। अभी वर्तमान में 900-1200 टेस्ट के बीच हो पा रहा है।

7) सबसे तेज और सस्ता किट होने के कारण देश मे पहला मल्टीप्लेक्स रियलटाइम पीसीआर किट होगा।

इस पेज से जुड़े रहने के लिए धन्यवाद।

इन्हें भी पढ़े-



Previous
Next Post »